मधुमेह से छुटकारा कैसे पाएं

मधुमेह से छुटकारा कैसे पाएं

आज की इस भाग दोड़ भारी जिंदगी में हम सभी इतने व्यस्त हो चुके है कि अपने शरीर पर ध्यान देने तक का समय नहीं निकाल पाते है जिसकी वज़ह से अनेको बीमारियो से ग्रसित हो जाते है. इनमे से ही एक बीमारी है मधुमेह. यह बीमारी एक बार अगर किसी व्यक्ति को हो जाये तो वह जीवन भर इससे मुक्त नहीं हो सकता आसानी से

मधुमेह को धीरे गति की मौत भी कह्ते है और साथ ही साथ यह शरीर की अन्य बीमारियों को भी बुलावा देता है जेसे की आँखों की दिक्कत, लीवर और किडनी की समस्या, पैरो की दिक्कत आदि l
पहले के समय में केवल 40 से अधिक उम्र के व्यक्ति ही इससे पीड़ित थे पर आज के समय मे छोटी उम्र के बचे भी इससे ग्रसित है जो एक चिंता का विषय है.
यह रोग महिलाओं की तुलना मे पुरुषों मे अधिक पाया जाता है तो चलिये जानते है कि मधुमेह क्या होता है

मधुमेह क्या है?

जब हमारे शरीर मे पेनक्रियाज मे इंसुलिन पहुँचना कम हो जाता है तब खून मे ग्लूकोस की मात्रा बढ़ जाती है जिससे मधुमेह कहते है इंसुलिन एक हार्मोन होता है जो शरीर के पाचन ग्रंथ मे बनता है।
जिसका काम शरीर के भीतर भोजन को एनर्जी मे बदलने मे होता है
इंसुलिन हमारे शरीर मे शुगर की मात्रा को कंट्रोल करता है
जो व्यक्ति इस बीमारी से पीड़ित है उसे भोजन से एनर्जी बनाने मे कठिनाई होती है


मधुमेह मुख्यत दो प्रकार का होता है पहला वंशानुगत और दूसरा रोजमरा की जीवन शैली बिगड़ने से
वो मधुमेह जो वंशानुगत होता है उसे टाइप 1 ओर दूसरे को टाइप 2 श्रेणी मे रखा जाता है
वंशानुगत श्रेणी मे वह लोग समलित है जिनके माता पिता को यह बीमारी है और उनसे उनके बच्चो मे आयी हो
और टाइप 2 की श्रेणी मे वो लोग आते है जो पूरी नींद नहीं लेते, जिनका खानपान अनियमित है और ज्यादा फास्ट फूड व मीठे व्यंजन ज्यादा खाते है
एक रिसर्च के मुताबिक जो व्यक्ति मधुमेह से पीड़ित है मे हार्ट अटैक का खतरा नार्मल व्यक्ति की तुलना में 50% ज्यादा होता है
इसके सेवन से प्रतिरोध क्षमता में व्रद्धि होती है

sogoayurveda,ayurvedic medicine for diabetes

मधुमेह के शरुआती लक्ष्ण:

  • चक्कर आना
    चिड़चिड़ाना
  • फोड़े फुंसियों का निकलना
    हाथ पैरों और गुप्तांग पर खुजली जैसी समस्या
  • आँखों की रोशनी कम होना
  • बार बार पेशाब का आना
    ज्यादा प्यास लगना

मधुमेह से बचाव के कुछ उपाय:

यहा हम आपको बता रहें है कुछ ऐसे उपाय जो मधुमेह से बचाव मे आपकी सहायता करेगा

  • मीठा खाना बिल्कुल छोड़ दे कम कैलोरी वाला भोजन ले
  • दिन मे तीन बार खाने की जगह 6 या 7 बार खाये
  • धूम्रपान व शराब का सेवन बिल्कुल बन्द करदे या कम कर दे
  • पूरी नींद ले
  • रेगुलर शुगर लेवल चेक कराये
  • भोजन में करेला, मैथी, पालक, बैगन, परवल, लौकी इत्यादि

sogoayurveda,ayurvedic diabetes treatment

प्राकृतिक मधुनाशिनी

इन सब के अलावा अगर आप मधुमेह से छुटकारा पाना चाहते हो बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के तो हम आपके लिए लाए है एक ऐसी ही दवाई मधुनाशिनी
प्राकृतिक मधुनाशिनी प्राकृतिक का एक वरदान है। इसके सेवन से ना केवल मधुमेह अपितु अन्य रोग से भी लाभ होता है।
प्राकृतिक मधुनाशिनी के नियमित सेवन से अग्नाश्य उचित मात्रा में इंसुलिन बनाना शुरु कर देता है
प्राकृतिक मधुनाशिनी का सेवन करने से शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है

DME- 6

sogoayurveda,Ayurvedic medicine for diabetes

DME – 6 Tablet एक आयुर्वेदिक आयुष 82 रीसर्च दवाई है मधुमेह के लिए जो
भारत सरकार के केंद्रीय परिषद् आयुर्वेदिक विज्ञान, आयुष मंत्रालय द्वारा निर्मित है

इस दवा को फोन पर ऑर्डर करने के लिए कॉल करे 7011537402 या आज ही अपना ऑर्डर बुक करें http://bit.ly/2Iz1cqw से

हर्बल मधु अमृत पाउडर

Sogo हर्बल मधु अमृत स्वस्थ रक्त शर्करा के स्तर के साथ मिलकर काम करने वाले 15 सभी प्राकृतिक अवयवों को शामिल करने के लिए तैयार किया गया है।

”Sogo Herbal Madhu Amrit” रक्त ग्लूकोज प्रबंधन मिश्रण विटामिन बी 1 विटामिन बी 6 विटामिन बी 12 विटामिन डी क्रोमियम पिकोलिनेट मेलाबेरी लीफ एक्सट्रैक्ट दालचीनी की छाल पाउडर जिमनामा सिल्वेस्ट्रे अर्कुलिना अर्क। पत्ती निकालने अल्फा लिपोइक एसिड बेर्बिन वेले अंगूर का तना निकालने केला पत्ता निकालने लिनोलिक एसिड।

×
×

Cart